डिलीवरी की फ्लीट में 10,000 इलेक्ट्रिक वाहनों का संकल्प लिया
January 21, 2020 • Jitendra Rajput
देहरादून। अमेजन इंडिया ने घोषणा की कि देश में इसके डिलीवरी वाहनों की फ्लीट में 2025 तक 10,000 इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) शामिल हो जाएंगे। यह संकल्प कंपनी ने 2019 में विभिन्न शहरों में सफल पायलट चलाने के बाद लिया; जिससे मिली जानकारी ने कंपनी को इस विशाल फ्लीट का निर्माण करने के लिए स्केलेबल एवं दीर्घकालिक ईवी वैरिएंट्स के निर्माण में मदद की। ये ईवी 2030 तक डिलीवरी फ्लीट में 100,000 इलेक्ट्रिक वाहनों को शामिल करने की वैश्विक प्रतिबद्धता के तहत अमेज़न द्वारा लिए गए जलवायु संरक्षण के संकल्प के अलावा होंगे।

इलेक्ट्रिक वाहनों की शुरुआत के साथ अमेज़न इंडिया का उद्देश्य अपने डिलीवरी आॅपरेशंस द्वारा पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रभाव एवं कार्बन उत्सर्जन को कम करना है। 10,000 ईवी की फ्लीट में 3-व्हीलर एवं 4-व्हीलर होंगे, जो भारत में डिज़ाईन व निर्मित किए गए हैं। 2020 में ये वाहन भारत के 20 से ज्यादा शहरों - दिल्ली एनसीआर, बैंगलोर, हैदराबाद, अहमदाबाद, पुणे, नागपुर एवं कोयम्बटूर आदि में काम करना शुरू कर देंगे, जिसके बाद शहरों की संख्या लगातार बढ़ती जाएगी। अमेज़न इंडिया ग्राहकों के आॅर्डर की सतत व सुरक्षित डिलीवरी सुनिश्चित करने के उद्देश्य से वाहनों की फ्लीट बनाने के लिए अनेक भारतीय ओईएम के साथ काम कर रहा है। पिछले कुछ सालों में भारतीय ई-मोबिलिटी उद्योग में काफी प्रगति हुई है तथा उन्नत टेक्नाॅलाॅजी, बेहतर मोटर एवं बैटरी उपलब्ध हो गए हैं। इसके अलावा देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग को बढ़ावा देने पर सरकार के केंद्रण एवं फेम 2 पाॅलिसी के साथ चार्जिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर की स्थापना से कंपनी को भारत में ईवी का अपना उद्देश्य पूरा करने में मदद मिली है।
अखिल सक्सेना वाइस प्रेसिडेंट कस्टमर फुलफिलमेंट-एपीएसी एवं इमर्जिंग मार्केट्स, अमेज़न ने कहा, ‘‘अमेज़न इंडिया पर हम एक सप्लाई चेन के निर्माण के लिए समर्पित हैं, जो हमारे आॅपरेशंस के कारण पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रभाव को कम करेगा। 2025 तक हमारी इलेक्ट्रिक वाहनों की फ्लीट का विस्तार 10,000 वाहनों तक करना इस उद्योग में एनर्जी एफिशियंट लीडर बनने के हमारे सफर में एक बड़ी उपलब्धि है। हम अपनी डिलीवरी फ्लीट के इलेक्ट्रिफिकेशन में निवेश जारी रखेंगे और नाॅन-रिन्यूएबल स्रोतों पर अपनी निर्भरता को कम करेंगे।’’